रुड़की मे पंजाबी एवं सिख समुदाय का प्रमुख पर्व रहा सुना

रिपोर्ट रुड़की हब
रुड़की
।।भारत ही नहीं बल्कि विदेशों में भी धूमधाम से मनाया जाता है और यह भी सच है कि पंजाबी एवं सिख समुदाय का यह प्रमुख त्योहार माना जाता है लेकिन इस बार सोचने वाली बात है कि रुड़की में क्यों सुना रह गया लोहड़ी पर्व क्या इस पर्व पर भी राजनीतिक रंग चढ़ना शुरू हो गया है क्योंकि पंजाबी समाज के बड़े-बड़े नेता चुनाव के समय पंजाबी समाज को जोड़ने का काम करते हैं लेकिन उसके बाद भी रुड़की में लोहड़ी पर्व का कार्यक्रम सुना रह जाता है क्यों यह अपने आप में सवालिया निशान खड़ा करता है उत्तरांचल पंजाबी महासभा के पूर्व प्रदेश उपाध्यक्ष ने जब से इस्तीफा दिया है तभी से पंजाबी समाज बिखरा हुआ नजर आ रहा है संजीव ग्रोवर पंजाबी समाज को एक ही माला में पिराने का कार्य लंबे समय तक करते रहे लेकिन एक वक्त ऐसा आया जब सब एक हो गए और जिस व्यक्ति ने इस मुहिम को चलाया था उसे दरकिनार कर दिया गया जबकि पंजाबी समाज की आवाज को उठाने के लिए लंबे समय से संघर्ष कर रहे उत्तरांचल पंजाबी महासभा के पूर्व प्रदेश उपाध्यक्ष संजीव ग्रोवर ने आखिरकार क्यों इस्तीफा दिया यह भी चर्चा का विषय है चुनाव आते ही कुछ व्यक्ति समाज को जोड़ने के बड़े-बड़े दावे करते हैं और फिर चुनाव होने के बाद वही दावे खोखले नजर आते हैं आखिरकार लोहड़ी मनाने के लिए पंजाबी समाज के बड़े-बड़े नेता एवं जनप्रतिनिधि सामने क्यों नहीं आते क्यों यह त्यौहार गली मोहल्लों तक सिमट कर रह गया है। वरना एक टाइम में पंजाबी समाज के कुछ लोगों द्वारा नेहरू स्टेडियम या रामनगर के रामलीला ग्राउंड में भव्य रुप से यह है पर मनाया जाता था अब कहीं ना कहीं आपस की फूट खुलकर सामने नजर आ रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.