Patwari Paper Leak: commission sat internal meeting

पेपर लीक मामले की आयोग ने आंतरिक जांच बैठा दी है। यह देखा जा रहा है कि किन हालात में कहां लापरवाही हुई, जिससे प्रश्न आयोग कार्यालय से बाहर चले गए। यह भी देखा जा रहा है कि अति गोपन विभाग में मोबाइल की एंट्री कैसे हुई?
पटवारी भर्ती पेपर लीक के दाग के बाद उत्तराखंड लोक सेवा आयोग अतिरिक्त सतर्क हो गया है। आयोग ने आंतरिक जांच बैठा दी है, ताकि भविष्य में इस तरह का मामला सामने न आए। सूत्रों के मुताबिक, पटवारी भर्ती पेपर लीक के बाद आयोग के अध्यक्ष डॉ. राकेश कुमार बेहद खफा हैं। 2021 में पदभार ग्रहण करने के बाद से लगातार उन्होंने आयोग की कार्यप्रणाली सुधारने का काम किया है।

Patwari Lekhpal Paper Leak: मास्टर और डॉक्टर हैं सबसे बड़े राजदार, सीने में छुपे हैं पेपर लीक के कई राज
इसलिए उन्होंने पेपर लीक मामले की आंतरिक जांच बैठा दी है। यह देखा जा रहा है कि किन हालात में कहां लापरवाही हुई, जिससे प्रश्न आयोग कार्यालय से बाहर चले गए। यह भी देखा जा रहा है कि अति गोपन विभाग में मोबाइल की एंट्री कैसे हुई? वहां सीसीटीवी लगे थे या नहीं? एक अधिकारी ने बताया कि यह भी देखा जा रहा है कि भविष्य में होने वाली भर्तियों के मद्देनजर कहां-कहां से पेपर लीक की आशंका हो सकती है। उन सभी बिंदुओं पर आयोग नए सिरे से सख्ती करेगा। जांच रिपोर्ट के आधार पर जल्द ही आयोग सभी व्यवस्थाएं और मजबूत कर लेगा।

380 सवाल ब्लैक लिस्ट
चूंकि आयोग के अनुभाग अधिकारी ने 380 सवालों को आयोग से बाहर भेजा था। सूत्रों के मुताबिक, आयोग ने इन सभी सवालों को ब्लैकलिस्ट कर दिया है। आगामी किसी भी भर्ती में इस तरह के सवाल नहीं पूछे जाएंगे।
आने-जाने वालों पर भी सख्ती
आयोग के दफ्तर में वैसे तो पहले से ही आने-जाने वालों पर सख्ती होती है लेकिन अब आयोग इस मामले में और सख्त रुख अख्तियार करने जा रहा है। आयोग परिसर में आने वाले हर व्यक्ति की पूरी डिटेल विस्तार से देखी जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.