रुड़की रोडवेज बस स्टैंड विलय के विरोध में उतरे खानपुर से निर्दलीय विधायक उमेश कुमार सहित कई कांग्रेसी नेता कर्मचारियों ने भी किया धरना प्रदर्शन जानिए पूरी खबर


रिपोर्ट रुड़की हब
रुड़की
रोडवेज बस स्टैंड का हरिद्वार बस डिपो मे विलय किये जाने के शासनादेश का खानपुर से निर्दलीय विधायक उमेश कुमार ने विरोध जताया है और इस प्रकरण पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहां सरकार इन्फ्राट्रक्चर बढ़ाती है और आप घटा रहे है कृपया उस क्षेत्र के विधायक और अन्य जनप्रतिनिधियों को इसका विरोध करना चाहिए अन्यथा में 12 तारीख को अपने तरीके से विरोध करूंगा आगे उन्होंने कहां कि मुझे

अंदेशा है की बस अड्डा खाली कराकर किसी बड़े व्यक्ति को मॉल बनाएं या अन्य कार्य हेतु यह बेशकीमती जमीन दी जा सकती है पहले ऐसा देहरादून में हो चुका है रुड़की बस स्टैंड विलय का विरोध यहीं नहीं रुका बल्कि आज रोडवेज कर्मचारियों ने भी जोरदार धरना प्रदर्शन किया और सरकार के खिलाफ ज़ोरदार नारेबाजी की।गुस्साए कर्मचारियों ने सरकार को चेतावनी दी कि अगर ऐसा किया गया तो सभी कर्मचारी सड़कों पर उतर कर आंदोलन करने के लिए मजबूर हो जाएंगे। वहीं कर्मचारियों के धरने  को किसान नेता चौधरी राजेंद्र सिंह और पूर्व चेयरमैन पंडित दिनेश कौशिक का समर्थन भी मिला।
इस दौरान पूर्व चेयरमैन और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पंडित दिनेश कौशिक ने सरकार पर आरोप लगाया कि प्रदेश सरकार रुड़की की जनता के साथ भेदभाव कर रही है। शहर में भाजपा के विधायक और  मेयर होने  के बावजूद भी रुड़की से रोडवेज बस स्टैंड हटाकर हरिद्वार ले जाना सरकार की मानसिकता को दर्शाता है। उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि अगर ऐसा हुआ तो शहर की जनता आंदोलन करने के लिए मजबूर हो जाएगी।
पंडित दिनेश कौशिक ने कहा कि रुड़की शहर में आईआईटी, एनआईएच, सीबीआरआई,और  बीईजी जैसे प्रमुख संस्थान मौजूद है। इतना ही नहीं हर रोज कई हजार यात्री एवं छात्र छात्राएं रुड़की से उत्तराखंड के साथ-साथ अन्य राज्यों में रोडवेज बसों से सफर करते  हैं रोडवेज बस स्टैंड हरिद्वार में शिफ्ट होने से रुड़की वासियों के साथ साथ बाहर से आने वाले यात्रियों को भी भारी परेशानी का सामना करना

पड़ेगा। अगर ऐसा हुआ तो उनकी पार्टी कर्मचारियों के साथ लेकर  बड़े पैमाने पर आंदोलन  करने के लिए मजबूर होगी इसी बीच झबरेड़ा विधायक वीरेंद्र जाती ने भी अपना विरोध दर्ज किया है और भाजपा सरकार से आह्वान किया है या तो रोडवेज बस स्टैंड रुड़की को यथावत रखें अन्यथा आंदोलन को बाध्य होंगे वहीं उन्होंने भाजपा विधायक प्रदीप बत्रा से भी इस मामले में प्रयास करने का आह्वान किया जनहित में भाजपा सरकार द्वारा रोडवेज डिपो को खत्म करने और यहां से गाड़ियां मिस्त्री और अन्य स्टाफ को हरिद्वार ट्रांसफर करने के खिलाफ आवाज उठाई है। इस मौके पर किसान नेता चौधरी राजेंद्र सिंह ने बड़ी बेबाकी के साथ कहा कि प्रदेश सरकार रुड़की के लोगों के लिए अन्याय कर रही है एक तरफ भाजपा विधायक रुड़की को ग्रीन सिटी, क्लीन सिटी, और मॉडल सिटी बनाने के लाख दावे करते हैं तो
 वहीं रुड़की रोडवेज बस स्टैंड को हटाने से सरकार की मानसिकता का पता चलता है अगर ऐसा हुआ तो भारतीय किसान यूनियन भी सरकार के खिलाफ आंदोलन करने के लिए मजबूर होगी ।इतना ही नहीं भाजपा विधायक प्रदीप बत्रा और मेयर गौरव गोयल के खिलाफ भी जनता प्रदर्शन करने को तैयार रहेगी। इस मौके पर भारतीय किसान यूनियन के अध्यक्ष विवेक चौधरी ,कर्मचारी  जगदीश बहुगुणा, उदयवीर,सुनील कुमार, सोम प्रकाश, सतीश कुमार, संदीप कुमार, राजकुमार, शेर अली, तेजवीर,और  सोमपाल के अलावा रोडवेज कर्मचारी संयुक्त मोर्चा के सभी कर्मचारी मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.