बिग ब्रेकिंग पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष सुभाष वर्मा ने थामा कांग्रेस का दामन

Report Roorkee hub

पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत के नेतृत्व में आज पूर्व जिला पंचायत हरिद्वार सुभाष वर्मा ने कांग्रेस की सदस्यता ग्रहण की, सैकड़ों गाड़ी और हजारों समर्थकों के साथ देहरादून पहुंचे पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष ने आज कांग्रेस का दामन थाम लिया हालांकि भारतीय जनता पार्टी को हरिद्वार जिले में बड़ा झटका पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने दिया है सुभाष वर्मा एक बड़े तेज तर्रार नेताओं में शुमार माने जाते हैं और जहां तक देखा देखा जा रहा था कांग्रेस के पास कोई बड़ा गुर्जर नेता नहीं था उसकी कमी सुभाष वर्मा के रूप में कांग्रेस ने पूरी कर ली है

जब खुद पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष को द्वार पर लेने आए

विधानसभा 2022 चुनाव नजदीक है ऐसे में सियासी समीकरण लगातार बदल रहे हैं आज हम बात करते हैं जिला पंचायत अध्यक्ष सुभाष वर्मा की जो पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के करीबी माने जाते है,लेकिन आज देहरादून पहुंच कर पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष सुभाष वर्मा ने पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत की उपस्थिति में कांग्रेस की सदस्यता ग्रहण की, अब बात करें खानपुर सीट की तो सियासी घमासान और भी दिलचस्प हो चुका है।

अगर सुभाष वर्मा खानपुर सीट से कांग्रेस के सिंबल पर चुनाव लड़े क्या होंगे समीकरण ?

इन सभी बातों पर भी विस्तार से विश्लेषण करेंगे क्योंकि वहां पत्रकार उमेश शर्मा भी लगातार जनसंपर्क कर रहे हैं और उन्होंने कहा है वह भी खानपुर सीट से चुनाव लड़ेंगे आखिरकार खानपुर क्षेत्र की जनता क्या चाहती है यह बड़ा सवाल है

विधानसभा 2022 चुनाव नजदीक है ऐसे में सियासी समीकरण लगातार बदल रहे हैं ,पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष सुभाष वर्मा कांग्रेस में शामिल होने जा रहे हैं हरीश रावत ने पुष्टि की है और कहां कि सुभाष वर्मा अच्छे इंसान हैं और उनके आने से पार्टी को मजबूती मिलेगी, सुभाष वर्मा जिला पंचायत अध्यक्ष हरिद्वार रहे है और गुर्जर समाज के बड़े नेता है भाजपा में लंबे समय से रहने के बाद उनका मुकाबला सीधा कुंवर प्रणव सिंह से है

सुभाष वर्मा कांग्रेस से टिकट की दावेदारी कर रहे हैं इसी के साथ लक्सर और हरिद्वार ग्रामीण से भी कई जिला पंचायत सदस्य कांग्रेस का दामन थाम सकते है

त्रिकोणीय हो सकता है अब खानपुर विधानसभा में मुकाबला?

अगर सुभाष वर्मा कांग्रेस के सिंबल खानपुर विधानसभा से चुनाव लड़ते हैं तो यहां चुनावी मुकाबला भाजपा ,कांग्रेस और बसपा में  माना जा रहा है, साथ ही पत्रकार उमेश शर्मा भी अगर चुनाव लड़ते हैं तो वह भी चुनाव में मजबूत नजर आ रहे हैं हालांकि है तो आने वाला समय ही बताएगा कि क्या होगा

Leave a Reply

Your email address will not be published.