खोल दू पोल: आखिर कौन लगाएगा शहर में पांच टूवेल ,अधिकारी बने खिलौना, पढ़िए पूरा दिलचस्प घटनाक्रम

गौरव वत्स रुड़की हब

कल जल दिवस था लेकिन रुड़की में कल से ही राजनीति की गर्मी इतनी बढ़ गई है कि उसकी प्यास बुझाना फिलहाल मुश्किल लग रहा है अब हम पूरा घटनाक्रम आपको शुरू से बताते हैं

पहला घटनाक्रम

जल निगम के अधिकारी राजेश निरवाल और जेई हिमांशु त्यागी जल दिवस पर भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता मयंक गुप्ता के घर जाते हैं यहां पर उन्हें शहर से संबंधित समस्याओं के बारे में बताते हैं समस्याएं शहर में पांच ट्यूबवेल की जरूरत है यह जानकारी प्रदेश प्रवक्ता मयंक गुप्ता को दी जाती है साथ ही और भी अन्य समस्याएं जो जल निगम से जुड़ी थी वह प्रदेश प्रवक्ता मयंक गुप्ता को बताई जाती है वहीं प्रदेश प्रवक्ता मयंक गुप्ता अपने लेटर पैड पर मुख्यमंत्री को इन सभी समस्याओं के नाम एक पत्र लिखते हैं जिसमें मांग की जाती है कि शहर में 5 ट्यूबवेल की आवश्यकता है जिससे शहर में पानी की समस्या खत्म हो जाए क्योंकि कल जल दिवस था तो मुख्यमंत्री ने जल दिवस पर एक बैठक बुलाई गई थी और सभी कार्यकर्ताओं से जल दिवस पर प्रदेश में हो रही समस्याओं के बारे में जानकारी मांगी गई थी उसी के मद्देनजर प्रदेश प्रवक्ता मयंक गुप्ता ने रुड़की के अधिकारियों से भी रुड़की के विषय में चिंता जताते हुए शहर की समस्याओं के बारे में जाना था

घटनाक्रम 2

अब जैसे ही यह खबर सोशल मीडिया पर चली तो नगर के महापौर गौरव गोयल को यह कुछ अटपटा लगा उन्होंने तुरंत जल अधिकारियों को फोन किया और उन्हें अपने आवास पर बुलाया और फिर जल अधिकारियों से कहा कि अगर आपको इस तरह की कुछ समस्या शहर के लिए तो आपको मुझे बताना चाहिए था मुझे भी मुख्यमंत्री के पास जाना है तो मैं भी आपका ज्ञापन वहां पर सोप दूंगा खैर अधिकारियों ने अपनी जिम्मेदारी समझते हुए एक ज्ञापन नगर के महापौर को भी सौंप दिया अब अगर शहर के महापौर के पास ना जाकर अधिकारी दूसरे जनप्रतिनिधि के पास जाएंगे तो जाहिर सी बात है कि यह अपने आप में भी एक प्रश्न बनता है कि क्या हमारे महापौर इतने सक्षम नहीं है कि वह शहर की समस्याओं का निवारण करा सके खैर फिर महापौर ने अपने सोशल मीडिया के माध्यम से इस खबर को प्रकाशित करवाया और जनता को एक संदेश देने की कोशिश की कि इस समस्याओं को मैं भी कराने के लिए प्रयासरत हूं

अब घटनाक्रम 3

अब बारी आती है शहर के विधायक प्रदीप बत्रा कि जब शहर के कुछ पत्रकारों ने नगर विधायक से संपर्क करना चाहा तो उन्होंने बताया कि उनके लेटर पैड पर पहले ही यह मांगे मांगी की जा चुकी है और जो पास भी हो चुकी हैं अब सवाल यह है कि जब भी है मांगे पूरी हो गई है तो अब तक शहर में कार्य प्रगति पर क्यों नहीं दिखाई दिया क्योंकि शहर में गर्मी बढ़ती जा रही है और पानी की समस्या भी बढ़ती जा रही है पानी ही गर्मी में शहर की प्यास बुझाता है खैर शहर में इस वक्त राजनीतिक गर्मी ज्यादा पड़ रही है और कार्य न के बराबर होते दिख रहे हैं अभी है आने वाले टाइम ही बताएगा कि ऊंट किस करवट बैठता है लेकिन रुड़की की जनता को अपने कार्य से मतलब है उन्हें सिर्फ काम चाहिए राजनीति नहीं

Leave a Reply

Your email address will not be published.