जहरीली शराब कांड का खुलासा ही नही एक और उल्लेखनीय कामयाबी भी पायी है एसएसपी जनमेजय प्रभाकर खंडूड़ी ने

संदीप तोमर


रुड़की। हरिद्वार के एसएसपी जनमेजय प्रभाकर खंडूड़ी ने उत्तराखंड के साथ ही उत्तर प्रदेश में बड़ा बवंडर मचा देने वाले जहरीली शराब कांड का अपने निर्देशन में अहम खुलासा करने के रूप में तो बड़ी कामयाबी पायी ही है,साथ ही इस कांड के खुलासे के लिए दिन रात मेहनत करते हुए एक और उल्लेखनीय कामयाबी उनके खाते में दर्ज हुई है,वह कामयाबी है पड़ोसी राज्य के जिले की पुलिस से बेहतर तालमेल स्थापित करना,वहां की पुलिस से लगातार सहयोग लेना और अपनी और से सहयोग देना।
जहरीली शराब कांड जितनी तेजी से घटित हुआ और लोगों की मौतें होनी शुरू हुई,उतनी ही तेजी से एसएसपी जनमेजय प्रभाकर खंडूड़ी के निर्देशन में पुलिस हरकत में आयी। यह सच है कि विभिन्न थानों कोतवाली की पुलिस के साथ ही एसओजी रुड़की ने सक्रिय रूप से भागदौड़ की,लेकिन लम्बे समय बाद कोई कप्तान खुद इतनी भागदौड़ करता नजर आया। इससे पूरी पुलिस टीम का हौंसला बढ़ा रहा। इससे पूर्व कभी हरिद्वार में एसएसपी रहते अशोक कुमार या अभिनव कुमार इस प्रकार किसी बड़े मामले को लेकर खुद फील्ड में नजर आते थे। खैर एसएसपी की खुद मौजूद रहकर लगातार निर्देशन वाली इस मेहनत का ही नतीजा रहा कि घटना के 48 घन्टे के भीतर न सिर्फ शराब सप्लायर सोनू और उसके पिता फकीरा तक पुलिस पहुंच गई,बल्कि कल अर्जुन समेत अन्य आरोपियों की गिरफ्तारी कर शराब बनाने और केमिकल आदि की पूरी कहानी पुलिस ने उजागर कर दी। इस मामले में खंडूड़ी के नेतृत्व में पुलिस को मिली सफलता में सबसे अहम बात यह है कि ऐसे मामलों में आम तौर पर एक कड़ी दूसरी कड़ी से नही जुड़ पाती। किन्तु इस मामले में सभी कड़ियां तो जुड़ी ही,साथ ही हर कड़ी से सम्बंधित आरोपी भी पकड़े गए। इस कांड के दृष्टिगत एसएसपी खंडूड़ी ने एक अन्य बड़ी जो उपलब्धि हासिल की है,वह है पड़ोसी राज्य के जनपद की पुलिस से बेहतर सामंजस्य स्थापित करना। दरअसल यदि इस तरह यह सामंजस्य स्थापित न होता तो शायद इस कांड का इतना सटीक खुलासा भी न होता। यह सामंजस्य इस दृष्टि से और बेहतर है कि कांवड़ या अन्य कई आयोजनों को लेकर दोनों राज्यों के पुलिस अफसर लगातार बैठके भी करते हैं किन्तु जो तालमेल बनना चाहिए वह नही बन पाता। इसके उलट जनमेजय प्रभाकर खंडूड़ी ने ऐसा तालमेल स्थापित किया कि सहारनपुर के एसएसपी दिनेश कुमार पी ने रुड़की आकर और जनमेजय प्रभाकर खंडूड़ी ने सहारनपुर जाकर एक नही कई बार प्रेस वार्ता की। यहां ध्यान रहे कि ऐसा तालमेल भी एक बार मौजूदा डीजीपी लॉ एंड ऑर्डर अशोक कुमार के हरिद्वार एसएसपी रहते तब बन था,जब रुड़की डिफेंस कालोनी के चौहरे हत्याकांड को लेकर उन्होंने व मुज्जफरनगर के एसएसपी ने संयुक्त प्रेस वार्ता की थी। आशा की जाती है कि सहारनपुर पुलिस के साथ जो तालमेल एसएसपी जनमेजय प्रभाकर खंडूड़ी ने बैठाया है,वह तालमेल तो जारी रहेगा ही,अन्य पड़ोसी जनपदों बिजनौर और मुज्जफरनगर की पुलिस से भी वह ऐसा ही सम्पर्क कायम कर पाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.