आज से शुरू हो रही अटल आयुष्मान योजना, जानें आपको क्या मिलेंगे फायदे और कैसे कराएं पंजीकरण

उत्तराखंड में अटल आयुष्मान योजना आज से शुरू हो जाएगी। रेसकोर्स स्थित बन्नू स्कूल के मैदान में मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत योजना का शुभारंभ करेंगे। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के जन्मदिन पर शुरू हो रही इस योजना में 60 साल से अधिक आयु के बुजुर्गों और 14 साल तक की आयु के बच्चों को सरकार निशुल्क ओपीडी की सुविधा देने जा रही है। मुख्यमंत्री इसकी घोषणा कर सकते हैं। 15 फरवरी 2019 से बुजुर्गों व बच्चों को ओपीडी में निशुल्क इलाज की सुविधा मिल सकती है।


प्रदेश के सभी लोगों को मंगलवार से आयुष्मान योजना में पांच लाख तक निशुल्क इलाज की सुविधा मिलनी शुरू हो जाएगी। प्रदेश के 23 लाख राशन कार्ड धारकों के साथ केंद्र के एसीसी सर्वे में चयनित 5.37 लाख लोगों व 2012 की वोटर लिस्ट में जिन लोगों के नाम दर्ज हैं, वे योजना में निशुल्क इलाज के लिए पात्र होंगे। आज दून में करीब 10 हजार लोगों की उपस्थिति में मुख्यमंत्री योजना का शुभारंभ करेंगे।

इस अवसर पर योजना की वेबसाइट व मोबाइल एप भी लांच किया जाएगा। एप व वेबसाइट के जरिये कोई भी व्यक्ति योजना में अपनी पात्रता के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकेगा। आयुष्मान योजना के तहत अस्पताल में भर्ती होने पर पांच लाख तक के निशुल्क इलाज की सुविधा देने का प्रावधान है।

सरकारी डॉक्टरों व कर्मियों को मिलेगी प्रोत्साहन राशि
आयुष्मान योजना में निशुल्क इलाज करने पर निजी अस्पतालों की तर्ज पर सरकारी अस्पतालों को भी भुगतान किया जाएगा। यदि व्यक्ति का इलाज सरकारी अस्पताल में होता है और उस पर 20 हजार रुपये का खर्च आता है, तो यह भुगतान संबंधित अस्पताल को होगा। जिसमें से 50 प्रतिशत राशि योजना को संचालित कर रही सोसायटी को मिलेगी।
सरकारी डॉक्टरों व कर्मियों को मिलेगी प्रोत्साहन राशि
आयुष्मान योजना में निशुल्क इलाज करने पर निजी अस्पतालों की तर्ज पर सरकारी अस्पतालों को भी भुगतान किया जाएगा। यदि व्यक्ति का इलाज सरकारी अस्पताल में होता है और उस पर 20 हजार रुपये का खर्च आता है, तो यह भुगतान संबंधित अस्पताल को होगा। जिसमें से 50 प्रतिशत राशि योजना को संचालित कर रही सोसायटी को मिलेगी।
अटल आयुष्मान योजना में एप से कराएं पंजीकरण
जबकि 25 प्रतिशत राशि अस्पताल में चिकित्सा उपकरणों, दवाईयों और अन्य व्यवस्थाओं के लिए दी जाएगी। इलाज पर होने वाले खर्च का 15 प्रतिशत डॉक्टरों को प्रोत्साहन राशि के रूप में दिया जाएगा। 10 प्रतिशत राशि इनसेंटिव के रूप में नर्सों व अन्य कर्मचारियों को दी जाएगी।

‘अटल आयुष्मान उत्तराखंड योजना’ एप के माध्यम से आप अपना और परिवार का विवरण देख सकेंगे। गूगल प्ले स्टोर में आपको ‘अटल आयुष्मान उत्तराखंड योजना’ एप डाउनलोड करना होगा। एप में वोटर आईडी नंबर और नाम डालकर पता लगा सकेंगे कि आपका नाम है या नहीं। नाम न होने पर अपना या परिवार के सदस्यों का नाम जोड़ सकते हैं।

2011 के सामाजिक आर्थिक और जातीय जनगणना में आपका नाम होना चाहिए या 2012 के राशन कार्ड या वोटर आईडी या मुख्यमंत्री स्वास्थ्य बीमा योजना का कार्ड आपके पास होना चाहिए। इनमें से अगर आपके पास कोई भी प्रमाण होगा तो आप योजना के पात्र होंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.