प्रसिद्ध जैन तीर्थ को पर्यटन स्थल घोषित किए जाने के विरोध में रुड़की नगर में जैन समाज द्वारा विशाल जनाक्रोश रैली निकालकर विरोध जताया

रिपोर्ट रुड़की हब
रुड़की।
झारखंड सरकार द्वारा प्रसिद्ध जैन तीर्थ को पर्यटन स्थल घोषित किए जाने के विरोध में रुड़की नगर में जैन समाज द्वारा विशाल जनाक्रोश रैली निकालकर अपना विरोध जताया तथा रुड़की कचहरी में पहुंचकर संबोधित एक ज्ञापन ज्वाइंट मजिस्ट्रेट के माध्यम से राष्ट्रपति,प्रधानमंत्री,केंद्रीय पर्यावरण मंत्री तथा झारखंड के मुख्यमंत्री को दिया गया,जिसमें झारखंड स्थित श्री सम्मेद शिखर पारसनाथ पर्वत राज की स्वतंत्रता पवित्रता एवं संरक्षण को बरकरार रखने तथा इसे पर्यटन स्थल के रूप में घोषित करने के निर्णय का जबरदस्त विरोध किया

गया।विरोध प्रदर्शन का नेतृत्व कर रहे जैन समाज रुड़की के अध्यक्ष अनिल कुमार जैन ने कहा कि समस्त जैन समाज के लिए पूजा स्थल पूजनीय है। राज्य सरकार के इस निर्णय से श्री सम्मेद शिखर की पवित्रता खंडित होने का खतरा है।सरकार के इस निर्णय से समस्त जैन समाज की भावना आहत हुई हैं और यह सामाजिक वैमनस्यता बढ़ाने वाला कदम है।उन्होंने झारखंड सरकार के साथ ही केंद्र सरकार से भी मांग की कि इस निर्णय को तुरंत वापस कर श्री सम्मेद शिखर की पवित्रता को बनाए रखने तथा जैन समाज के साथ ही अन्य समाज की भावनाओं को भी सम्मान दें।इस दौरान मेयर गौरव गोयल,सचिन गुप्ता,नवीन कुमार जैन एडवोकेट,नरेंद्र जैन शास्त्री, प्रदीप कुमार जैन,भूपेंद्र जैन,सुभाष चंद जैन, नवनीत कुमार जैन,अरिंजय जैन,पुरुषोत्तम कुमार जैन, मुकेश कुमार जैन,मनोज जैन,साधुराम जैन,सुधीर जैन,अतुल जैन,सुनील कुमार जैन,विकास जैन, अंकुर जैन,अमन जैन,वरुण जैन,अवनीश जैन,पीके जैन,अतुल जैन,भूपेंद्र जैन,अनुराग जैन आदि बड़ी संख्या में जैन समाज के लोग मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.