हर्ष विद्या मंदिर पीजी कॉलेज रायसी में राष्ट्रीय शिक्षा नीति-2020 पर कार्यशाला का आयोजन किया गया


रिपोर्ट रुड़की हब
खानपुर
। हर्ष विद्या मंदिर पीजी कॉलेज रायसी हरिद्वार में राष्ट्रीय शिक्षा नीति-2020 पर कार्यशाला का आयोजन किया गया। इस अवसर व्याख्यान के लिए श्रीदेव सुमन विश्वविद्यालय से आए हुए प्रोफ़ेसर डी सी गोस्वामी एवं प्रोफेसर डीकेपी चौधरी ने अपने सारगर्भित व्याख्यान से समस्त छात्र-छात्राएं एवं शिक्षकों दिल जीत लिया। इस अवसर पर


महाविद्यालय के प्रबंधक डॉक्टर के पी सिंह ने कहा कि नई शिक्षा नीति पर कार्यशाला के आयोजन से छात्र-छात्राओं एवं शिक्षकों में पाठ्यक्रम के प्रति आने वाली भ्रांतियां दूर होंगी इस अवसर पर महाविद्यालय के सचिव डॉ हर्ष कुमार दौलत ने कहा कि इस कार्यशाला से शिक्षकों में नवीन प्रवेश एवं पाठ्यक्रम को समझने में सरलता आएगी। महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ आर सी पालीवाल ने दोनों मुख्य अतिथि का स्वागत करते हुए मां सरस्वती जी की प्रतिमा पर दीप प्रज्वलन का कार्य संपन्न करते हुए कहा कि राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 पर किए गए कार्यशाला के आयोजन से शिक्षक एवं शिक्षणेत्तर कर्मचारियों में कला वर्ग, विज्ञान वर्ग एवं वाणिज्य वर्ग में नवीन प्रवेश के साथ-साथ सुव्यवस्थित पाठ्यक्रम के नियमों एवं निर्देशों की जानकारियां प्राप्त होंगी। प्राचार्य ने कहा कि प्रोफेसर डीसी गोस्वामी एवं प्रोफेसर डीकेपी चौधरी द्वारा नवीन प्रवेश और पाठ्यक्रम पर प्रोजेक्ट विधि के द्वारा दिए गए व्याख्यान को सभी कर्मचारियों को आत्मसात कर अनुपालन करने की जरूरत है। इस कार्यशाला का भव्य समापन राष्ट्रगान के द्वारा किया गया। इस अवसर पर महाविद्यालय के प्राध्यापक डॉ अजीत राव, डॉक्टर वर्षा अग्रवाल, डॉक्टर सुरजीत कौर, डॉ निधि,डॉक्टर विक्की तोमर, डॉक्टर नरेंद्र, डॉ अनुज, डॉ केपी तोमर,डॉ रणवीर सिंह डॉ विनीता, डॉक्टर दुर्गा ,डॉक्टर सरला डॉ प्रशांत, डॉ निशा पाल डॉक्टर मुरली डॉ प्रदीप डॉ राहुल कौशिक डॉ अजय गौतम आदि प्राध्यापकों ने इस कार्यशाला से हुई जानकारियों की प्रशंसा की। इस अवसर व्याख्यान के लिए श्रीदेव सुमन विश्वविद्यालय से आए हुए प्रोफ़ेसर डी सी गोस्वामी एवं प्रोफेसर डीकेपी चौधरी ने अपने सारगर्भित व्याख्यान से समस्त छात्र-छात्राएं एवं शिक्षकों दिल जीत लिया। इस अवसर पर


महाविद्यालय के प्रबंधक डॉक्टर के पी सिंह ने कहा कि नई शिक्षा नीति पर कार्यशाला के आयोजन से छात्र-छात्राओं एवं शिक्षकों में पाठ्यक्रम के प्रति आने वाली भ्रांतियां दूर होंगी इस अवसर पर महाविद्यालय के सचिव डॉ हर्ष कुमार दौलत ने कहा कि इस कार्यशाला से शिक्षकों में नवीन प्रवेश एवं पाठ्यक्रम को समझने में सरलता आएगी। महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ आर सी पालीवाल ने दोनों मुख्य अतिथि का स्वागत करते हुए मां सरस्वती जी की प्रतिमा पर दीप प्रज्वलन का कार्य संपन्न करते हुए कहा कि राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 पर किए गए कार्यशाला के आयोजन से शिक्षक एवं शिक्षणेत्तर कर्मचारियों में कला वर्ग, विज्ञान वर्ग एवं वाणिज्य वर्ग में नवीन प्रवेश के साथ-साथ सुव्यवस्थित पाठ्यक्रम के नियमों एवं निर्देशों की जानकारियां प्राप्त होंगी। प्राचार्य ने कहा कि

प्रोफेसर डीसी गोस्वामी एवं प्रोफेसर डीकेपी चौधरी द्वारा नवीन प्रवेश और पाठ्यक्रम पर प्रोजेक्ट विधि के द्वारा दिए गए व्याख्यान को सभी कर्मचारियों को आत्मसात कर अनुपालन करने की जरूरत है। इस कार्यशाला का भव्य समापन राष्ट्रगान के द्वारा किया गया। इस अवसर पर महाविद्यालय के प्राध्यापक डॉ अजीत राव, डॉक्टर वर्षा अग्रवाल, डॉक्टर सुरजीत कौर, डॉ निधि,डॉक्टर विक्की तोमर, डॉक्टर नरेंद्र, डॉ अनुज, डॉ केपी तोमर,डॉ रणवीर सिंह डॉ विनीता, डॉक्टर दुर्गा ,डॉक्टर सरला डॉ प्रशांत, डॉ निशा पाल डॉक्टर मुरली डॉ प्रदीप डॉ राहुल कौशिक डॉ अजय गौतम आदि प्राध्यापकों ने इस कार्यशाला से हुई जानकारियों की प्रशंसा की।

Leave a Reply

Your email address will not be published.