क्या किसी राजनीति का शिकार हो गए पंजाबी महासभा के प्रदेश उपाध्यक्ष संजीव ग्रोवर क्या है इस्तीफे की वजह?


रिपोर्ट रुड़की हब रुड़की।। देर रात नगर विधायक प्रदीप बत्रा के घर में पंजाबी महासभा की एक बैठक का गठन किया गया जिसमें सभा के पदाधिकारी मौजूद रहे सर्वसम्मति से यह निर्णय लिया गया कि पंजाबी महासभा को एक किया जाए नगर विधायक प्रदीप बत्रा की सहमति से जगदीश मेंदीरत्ता को जिला अध्यक्ष नियुक्त किया गया वही जो पंजाबी समाज दो भागों में बांटा था उसको एक करने की कोशिश की गई मगर सोशल मीडिया पर जो सबसे ज्यादा चर्चा का विषय रहा वह है संजीव ग्रोवर का पंजाबी

सभा से इस्तीफा क्योंकि सभा के प्रदेश उपाध्यक्ष संजीव ग्रोवर को बैठक में नहीं बुलाया गया था जिसके बाद सोशल मीडिया पर सैकड़ों लोगों ने आई सपोर्ट संजीव ग्रोवर के नाम से एक पोस्ट फेसबुक के माध्यम से चलाएं जो कि सोशल मीडिया पर वायरल हो गई विगत कई वर्षों से संजीव ग्रोवर पंजाबी महासभा के प्रदेश उपाध्यक्ष के रूप में काम कर रहे हैं साथ ही उनकी समाज में एक अच्छी पकड़ भी मानी जाती है लेकिन जो चर्चा का विषय है की नगर विधायक प्रदीप बत्रा से उनका 36 का आंकड़ा बताया जाता है गौरतलब है कि अभी कुछ दिन पहले संजीव ग्रोवर की एक बिल्डिंग एचआरडी द्वारा सीज की गई थी ऐसा कहा जा रहा है हालांकि रुड़की हब इसकी पुष्टि नहीं करता कि वह बिल्डिंग किसी राजनीति का शिकार हो गई थी और किसी के कहने से वह सीज कराई गई थी शायद यही वजह है कि संजीव ग्रोवर को पंजाबी सभा से अलग करने की कोशिश की गई है और यह सब इसलिए भी हो रहा है विधानसभा चुनाव में संजीव ग्रोवर ने खुलकर विधायक प्रदीप बत्रा की खिलाफत की थी और विपक्ष के लिए काम किया था अभी यह तो आने वाला वक्त ही बताएगा कि उत्तरांचल पंजाबी महासभा एक होती है या बिखराव की स्थिति बनती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.