स्वदेशी जागरण मंच रुड़की ने प्रधानमंत्री के नाम सौंपा एसडीएम को ज्ञापन पत्र के माध्यम से प्रधानमंत्री से कि यह अपील पढे पूरे पत्र में क्या लिखा गया है

नितिन कुमार


सेवा में,
माननीय श्री नरेन्द्र मोदी जी
प्रधानमंत्री जी, भारत सरकार
नई दिल्ली।

द्वारा – एस. डी. एम., रुड़की, जिला हरिद्वार, उत्तराखंड।

विषय – पुलवामा में CRPF पर हुए आतंकी हमले के संदर्भ में।

सादर नमस्कार,
मान्यवर पुलवामा में हुई घटना से समस्त देशवासियों का ह्रदय व्याकुल है। हमने इस हमले में न सिर्फ अपने भारत माता के वीर सपूतों को खोया है बल्कि ये हमला हमारी उस नींद को तोड़ने वाला भी है। जहाँ हम ये स्वप्न सजाए बैठे है कि पाकिस्तान जैसे आतंकी देश के साथ वार्ता कर मसले सुलझाए जा सकते है। प्रधानमंत्रीजी ये कोई पहला हमला नही है और अगर हम आज भी सिर्फ निंदा और कोरी धमकियों तक सीमित रह गए तो ये आख़री हमला भी नही होगा। ऐसे हमले निरंतर होते रहेंगे और भारत माता की छाती पर शहीदों की लाशों का बोझ यूँ ही बढ़ता रहेंगे।

आज देश को जितना खतरा पाकिस्तान के गलत इरादों का है उतना ही बड़ा खतरा देश के अंदर बैठे गदारो से है। जिन अलगाववादियों को भारत मानवाधिकार के नाम पर पाल रहा है असल में वो आस्तीन के साँप है। ये लोग दिया हिंदुस्तान का खाते है पर हिन्दुस्तान के खिलाफ रची गयी हर साजिश का हिस्सा भी होते है। ऐसे लोगो को दी जाने वाली सारी सुविधाएं तुरत बन्द होनी चाहिए। और कश्मीर में शांति स्थापित करने के लिए सबसे पहले इनको कश्मीर से बेदखल करना जरूरी है। मुझे हरिओम पंवार जी की वो पंक्तियां याद आ रही जिसमे वो कहते है..

“केवल रावलपिंडी पर मत थोपो अपने पापों को
दूध पिलाना बंद करो अब आस्तीन के साँपों को
अपने सिक्के खोटे हों तो गैरों की बन आती है”


प्रधानमंत्रीजी आज देश के 130 करोड़ लोग आपकी तरफ निगाहे गड़ाए बैठे है। ये रोज़-रोज़ हमारे सैनिकों का शहीद होना, घरो का उजड़ना बर्दास्त नही होता अब। आप चाहे देश का कितना भी विकास कर दे चाहे देश कितना भी समृद्ध हो जाये। लेकिन अगर देश के दुश्मन हम पर यूँ ही हमला करते रहे तो ये सब व्यर्थ है। आपसे आग्रह है या कहे कि आपसे ही बस आखरी उम्मीद है कि आप कठोर निर्णय ले। देश का एक-एक व्यक्ति आपके साथ खड़ा है। पाकिस्तान समस्या का स्थायी समाधान अब होना ही चाहिए। ओर ये तभी संभव है जब पाकिस्तान को दुनिया के नक्शे से मिटा दिया जाए।


इस देश से समस्त नागरिकों का आप में पूर्ण विश्वास है। अतः आपसे आशा करते है आप इस समस्या का जल्द समाधान करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.