भगवानपुर बंदरजूड गांव में एक कंपनी की तरफ से लगाए जा रहे टावर का ग्रामीणों ने किया विरोध


रिपोर्ट रुड़की हब
रुड़की
:-भगवानपुर बंदरजूड गांव में एक कंपनी की तरफ से लगाए जा रहे टावर का ग्रामीणों ने विरोध किया। ग्रामीणों ने कहा कि वे इस टावर को लगवाने के हक में नहीं हैं। टावर लगाने के कार्य को रुकवाने की

मांग को लेकर वह डीएम व जनप्रतिनिधियों से मिले लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई। ग्रामीणों ने कहा कि जल्द ही प्रशासन ने टावर लगाने के कार्य को नहीं रुकवाया तो वह आंदोलन करने के लिए मजबूर होंगे। ग्रामीण मोहम्मद सलीम, नौशाद, जमशेद, जाहिद, मुनफित, जनेश्वर,अमित, गफ्फार, आकिल, नूरा, शादाब,नसीम, वसीम, आशु, जीशान, उस्मान, इस्लाम, शाहबाज, शाकिर, नूरा, शहजान ने बताया कि नूरा पुत्र नियाज के घर के निकट बस्ती के बीच में कुछ लोगों द्वारा एक मोबाइल टॉवर लगवाया जा रहा है। इस टॉवर के कारण संपूर्ण ग्रामीणों को कठिनाइयों का सामना करना पड़ेगा। यहां तक कि गर्भवती महिलाएं व बच्चों पर भी इसका प्रभाव पड़ेगा। इससे पहले भी गांव में एक टॉवर लगा है, जिसके कारण एक महिला के 2 बच्चे डिलीवरी से पहले ही मर चुके, इसका मुख्य कारण भी उक्त पीड़िता ने मोबाइल टॉवर को ही बताया। कुछ लोग दबंगई दिखाते हुए इसे जबरन बस्ती में लगवाने का प्रयास कर रहे हैं, जबकि उनका आरोप है कि यह टॉवर बस्ती से हटाकर लगाया जाए। ग्रामीणों ने कहा कि टावर लगने से इससे निकलने वाली तरंगों से लोगों के साथ पशु बीमार होंगे और भविष्य में कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ेगा। ग्रामीणों ने कहा कि अगर समय रहते टावर लगाने का कार्य बंद नहीं किया तो वह आंदोलन करने पर मजबूर होंगे। वही वही एसडीम भगवानपुर ने जानकारी देते हुए बताया कि नोटिस नोटिस देकर डाबर के कार्य को रुकवा दिया गया है। और जिन लोगों मैं फर्जी हस्ताक्षर के हुए हैं उनकी जांच कर उन लोगों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई अमल में लाई जाएगी

Leave a Reply

Your email address will not be published.