पुलवामा हमला मोदी सरकार का बड़ा फेलियर-चंद्रशेखर रावण,रुड़की में भीम आर्मी की विशाल जनसभा

रुड़की(संदीप तोमर)। रुड़की के नेहरू स्टेडियम में भीम आर्मी द्वारा बहुजन महासम्मेलन का आयोजन किया गया। महासम्मेलन को भीम आर्मी के संस्थापक एडवोकेट चन्द्रशेखर ने सम्बोधित किया। उन्होंने राजनीतिक पार्टियों पर निशाना साधते हुए सर्वसमाज को एकजुट होने की बात कही।
महासम्मेलन को सम्बोधित करते हुए चन्द्रशेखर रावण ने भाजपा सरकार पर निशाना साधते हुए चेताया कि समाज उन्हें सबक सिखाने का काम करेगा। उन्होंने कहा कि जो भी अधिकारी कर्मचारी लोगों का उत्पीड़न करेगा उससे भीम आर्मी सख्ती से निपटेगी। उन्होंने कहा कि हम अगर दो अप्रैल को भारत बन्द करना जानते है तो भारत चलाना भी जानते है। उन्होंने कहा कि कुछ लोग पुलवामा मामले में राजनीति कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि यह राजनीति और इतना बड़ा हमला मोदी सरकार का फेलियर है। उन्होंने कहा कि यह झूठा हमला करवाकर सरकार मुस्लिम समाज को बदनाम करने का प्रयास कर रही है। उन्होंने सवाल उठाया कि इतनी सुरक्षा के बीच बड़ी मात्रा में आरडीएक्स कैसे सामने आया। उन्होंने कहा कि हम सरकार से मांग करते है कि अर्धसैनिक बलों को शहीद का दर्जा दिया जाए। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड प्रदेश की सरकार ने दलित समाज के लोगों पर झूठे मुकदमे दर्ज किये हैं। सरकार सभी मुकदमे वापस ले। उन्होंने कहा कि त्रिवेंद्र सरकार ने शिक्षा का बजट (छात्रवृति) इस बार बहाल नही किया तो देहरादून कूच करके मुख्यमंत्री आवास को भीम आर्मी घेरेगी। उन्होंने 13 प्वाइंट रोस्टर प्रणाली को वापस लिए जाने की मांग की। उन्होंने कहा कि इस कार्यक्रम की परमिशन कैंसल करवाने के लिए हमारे समाज के कुछ लोगों ने पुरजोर प्रयास किया। चन्द्रशेखर ने उन्हें चेतावनी दी कि भविष्य में ऐसी गलती न दोहराएं। उन्होंने कहा आज सर्वसमाज के लोग एकजुट होकर जय भीम बोलने का काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि ओबीसी और दलित समाज एकजुट होकर अन्याय के खिलाफ लडेंगे। उन्होंने कहा कि राजनीति करने वाले लोगों को केवल दलितों का वोट चाहिए। दलित समाज की पीड़ा से उन्हें कोई सरोकार नही है। अब हमें अपनी लड़ाई खुद लड़नी होगी। जहरीली शराब से हुई मौतों के मामले में उन्होंने कहा कि सरकार की मिलीभगत से कच्ची शराब की भट्टियां चलती हैं। और जब इस शराब से मौतें हुई तो पीड़ित परिवार को मात्र दो लाख का मुआवजा देकर उनके जख्मों पर नमक लगाने का काम सरकारों ने किया। उन्होंने कहा कि अब हक मांगा नही जाएगा छीना जाएगा। उन्होंने कहा कि प्रत्येक घर से एक बच्चा चाहिए जो कि बहुजन समाज के मोववमेंट के लिए काम करे।
राष्ट्रीय अध्यक्ष विनय रत्न सिंह, ने कहा कि भारत की वर्तमान सरकार में गरीबों और दलित समाज के लोगों का सबसे अधिक शोषण हुआ है। उन्होंने कहा कि चन्द्रशेखर दलित और मुस्लिम के साथ सर्वसमाज के हक की लड़ाई लड़ने का काम कर रहे हैं।
कार्यक्रम में प्रदेश अध्यक्ष महक सिंह, रविन्द्र भाटी, कुंवर देवेंद्र, पूर्व विधायक मोहम्मद गाजी, चौधरी बॉबी, परमवीर एडवोकेट, दीपक लाठी, मदनलाल, प्रमोद महाजन, सुशील पाटिल, अरविंद प्रधान, पुन्नी, खुर्शीद हसन, दीपक सेठपुर,अमरीश कपिल, विनोद, रवि, सुशील, संजय, मदन, महेंद्र लाल,मिथुन,सोनू राठी,जसवीर, अर्जुन,मेहरबान,एजाज आदि मौजूद रहे।

आईआईटी की पीड़ित छात्रा ने रखी पीड़ा…

पिछले वर्ष दिसम्बर में आईआईटी प्रोफेसरों पर उत्पीड़न का आरोप लगाने वाली छात्रा ने कार्यक्रम को सम्बोधित किया। उन्होंने आह्वान किया कि आज दलित समाज को एकजुट होकर शोषण के खिलाफ लड़ाई लड़नी होगी। मुकदमा दर्ज होने के बाद भी आरोपियों की गिरफ्तारी न हो पाने पर भी छात्रा ने अपनी पीड़ा रखी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.